THANE : पुलिस ने रोका बाल विवाह

ठाणे : ठाणे शहर में होने जा रहे बाल विवाह की सूचना जैसे ही पुलिस को मिली, चाइल्ड प्रोटेक्शन यूनिट पथक ने घटनास्थल पर जाकर दोनों को कब्जे में ले लिया। इसके बाद दोनों ही पक्षों से पुलिस ने लिखिततौर पर प्रतिज्ञापत्र लिया कि वे अपने-अपने बच्चे की शादी बालिग होने के बाद ही करेंगे। जबकि लड़का और लड़की दोनों नाबालिग बताया गया है। सलाम बालक चाइल्ड लाइन संस्था, ठाणे की श्रध्दा नारकर को जानकारी मिली थी की शांति नगर झोपड़पट्टी कलवा खरेगांव में बाल विवाह होने वाला है। इसके बाद नारकर ने इसकी जानकारी ठाणे पुलिस को दी। बुधवार को 3:30 बजे इस बाल विवाह को रोकने के लिए पुलिस टीम पहुंची और वैवाहिक कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया।
सामाजिक संस्था व बाल संरक्षण पथक के पुलिस अधिकारी, पुलिस हवलदार व महिला पुलिस हवलदार ने लड़का-लड़की सहित दोनों पक्षों के लोगों को सरकारी वाहन से कलवा पुलिस स्टेशन लाया। मामले की कागजी खानापूर्ति की गई। पुलिस ने लड़का-लड़की दोनों पक्षों से लिखित तौर पर यह आश्वासन लिया कि वे अपने-अपने बच्चे की शादी बालिग होने के बाद ही करेंगे। पुलिस जानकारी के अनुसार शादी निमित्त हल्दी की तैयारियां चल रही थी। पुलिस शांतीनगर झोपडपट्टी, साईबाबा मंदिरा समीप, खारेगांव, कलवा पहुंची। शंकर राजु कांबले (19) निवासी शांतीनगर झोपडपटट्टी, साईबाबा मंदिर के पास , खारेगांव, कलवा , ठाणे का विवाह ललीता रमेश जाधव (16 ) निवासी शांतीनगर झोपडपट्टी, साईबाबा मंदिराजवल , खारेगांव, कलवा के साथ होने वाली थी। पुलिस की उपस्थिति में दोनों पक्षों से लिखित प्रतिज्ञा पत्र लिया गया कि वह अपने अपने बच्चे की शादी बालिग होने पर ही करेंगे।