Chandigarh : अमृतपाल की तलाश हरियाणा पुलिस ने पंजाब की सीमा से लगे इलाकों में वाहनों की जांच तेज की

चंडीगढ़ : पंजाब में कट्टरपंथी सिख उपदेशक और खालिस्तान समर्थक अमृतपाल सिंह की तलाश जारी है। वहीं, हरियाणा ने पड़ोसी राज्य से लगी सीमा पर वाहनों की जांच तेज कर दी है।

पंजाब पुलिस ने शनिवार को अमृतपाल सिंह के खिलाफ एक बड़ी कार्रवाई शुरू की और सोमवार दोपहर तक इंटरनेट और एसएमएस सेवाओं को बंद कर दिया। पुलिस ने सिंह के नेतृत्व वाले संगठन ‘पंजाब वारिस दे’ के 78 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने रविवार को बताया कि पंजाब से लगी शंभू सीमा पर अंबाला पुलिस को हाई अलर्ट पर रखा गया है।

उन्होंने कहा कि अतिरिक्त चौकियां स्थापित की गई हैं और वहां बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों को तैनात किया गया है। अधिकारियों ने कहा कि कुरुक्षेत्र, कैथल और सिरसा समेत पंजाब के साथ लगी सीमा वाले कुछ अन्य जिलों में भी पुलिस कड़ी निगरानी रख रही है और वाहनों की जांच तेज कर दी है।

शंभू के पास हरियाणा-पंजाब सीमा पर मौजूद अंबाला पुलिस के सीआईए(अपराध जांच एजेंसी)-1 प्रभारी हरजिंदर सिंह ने कहा कि स्थिति सामान्य और शांतिपूर्ण है, लेकिन पुलिस चौकसी बरत रही है। पंजाब में, सुरक्षा बलों ने अमृतसर, जालंधर और लुधियाना सहित राज्य के कई स्थानों पर फ्लैग मार्च किया।

दुबई में रह चुके अमृतपाल को पिछले साल ‘वारिस पंजाब दे’ का प्रमुख बनाया गया था, जिसकी स्थापना अभिनेता और कार्यकर्ता दीप सिद्धू ने की थी। दीप सिद्धू की पिछले साल फरवरी में एक सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई थी।

पिछले महीने, अमृतपाल और उसके समर्थकों ने तलवारें और बंदूकें लहराते हुए बैरिकेड्स को तोड़ दिया और अमृतसर शहर के बाहरी इलाके में अजनाला थाने में घुस गए थे। वे सभी अमृतपाल के एक सहयोगी की रिहाई की मांग कर रहे थे। घटना में छह पुलिसकर्मी घायल हो गए थे।