Pune : केटीएम प्रमुख को इलेक्ट्रिक बाइक की ‘अतिरंजित’ क्षमता को लेकर संदेह

पुणे: (Pune) स्विस स्पोर्ट्स बाइक विनिर्माता केटीएम के प्रमुख को इलेक्ट्रिक वाहनों की क्षमता पर एक सीमा से अधिक भरोसा नहीं है। उनका मानना है कि इस मोर्चे पर दिख रहा आत्मविश्वास ‘अतिरंजित’ है।दुनिया की अग्रणी प्रीमियम मोटरबाइक ब्रांड होने का दावा करने वाली केटीएम यूरोपीय बाजारों में सैकड़ों ई-बाइकों की भी आपूर्ति करती है।केटीएम और बजाज ऑटो का 50.1 प्रतिशत एवं 49.9 प्रतिशत हिस्सेदारी वाला एक विनिर्माण संयुक्त उद्यम है। यह देश में मुख्य रूप से महंगी रेसिंग बाइक की बिक्री करता है। कंपनी 2024 की पहली तिमाही से चेतक स्कूटरों के इलेक्ट्रिक संस्करण की बिक्री भी यूरोप में शुरू करेगी।

केटीएम ब्रांड का मालिकाना हक रखने वाली कंपनी पियरे मोबिलिटी के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) स्टीफन पियरे ने यहां एक मीडिया गोलमेज सम्मेलन में कहा, ‘इलेक्ट्रिक वाहनों की गतिशीलता क्षमता और क्षमता सीमा बढ़ा-चढ़ाकर पेश की गई है। यह भौतिकी के सिद्धांतों को गलत तरीके से संयोजित करने और ऊर्जा के नियमों की गलत व्याख्या करने का परिणाम है।’उन्होंने कहा, ‘मुझे मालूम है कि उच्च क्षमता की इलेक्ट्रिक बाइक बनाने की अव्यावहारिकता के बारे में राजनेताओं को समझाना और राजी करना मुश्किल है।’

पियरे ने आगे कहा कि समान मात्रा में ऊर्जा का उत्पादन करने के लिए ईवी बाइक को एक लीटर पेट्रोल की तुलना में 10 गुना अधिक भंडारण क्षमता की आवश्यकता होती है। उन्होंने कहा कि सीमित जगह वाली बाइक में 600-700 किलोग्राम की बैटरी ले जाने की उम्मीद किस तरह की जा सकती है।उन्होंने कहा कि इसी वजह से स्पोर्ट्स या लग्जरी बाइकों का बिजली से संचालित हो पाना संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि उच्च प्रदर्शन वाली बाइक का इलेक्ट्रिक इंजन पर चल पाना संभव नहीं है।हालांकि, पियरे ने यह स्वीकार किया कि शहरी परिवहन के एक साधन के तौर पर इलेक्ट्रिक वाहनों का इस्तेमाल आसानी से किया जा सकता है और यह बढ़ता रहेगा। यही कारण है कि कंपनी इस खंड के लिए बजट बाइक भी बनाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *