Washington: प्रमुख गैर-नाटो सहयोगी के रूप में पाकिस्तान का दर्जा खत्म करने के लिए अमेरिकी संसद में विधेयक पेश

वाशिंगटन:(Washington) अमेरिका के एक सांसद (US Congressman) ने अमेरिकी प्रतिनिधि सभा में एक प्रमुख गैर-नाटो सहयोगी के रूप में पाकिस्तान की मान्यता समाप्त करने संबंधी एक विधेयक पेश किया है, जिसमें इस्लामाबाद को कुछ शर्तों के साथ अमेरिकी राष्ट्रपति से वार्षिक प्रमाणीकरण की आवश्यकता का प्रावधान है।

एरिजोना के पांचवें कांग्रेशनल जिले का प्रतिनिधित्व करने वाले सांसद एंडी बिग्स ने विधेयक (एचआर 80) पेश किया है।

अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा कानून पर हस्ताक्षर किए जाने से पहले इसे प्रतिनिधि सभा और सीनेट द्वारा पारित कराना जरूरी है और इसे आवश्यक कार्रवाई के लिए प्रतिनिधि सभा की विदेश मामलों की समिति को भेजा गया है।

आम तौर पर ऐसे विधेयक पारित नहीं हो पाते हैं लेकिन मौजूदा विधेयक पाकिस्तान के खिलाफ सांसदों की भावनाओं को दर्शाता है, जो आतंकवाद को पनाह देने और इसे सरकारी नीति के रूप में इस्तेमाल करने के लिए जाना जाता है।

विधेयक में एक प्रमुख गैर-नाटो सहयोगी के रूप में पाकिस्तान के दर्जे को बनाए रखने के लिए अमेरिकी राष्ट्रपति से इस बात का प्रमाणीकरण जारी किए जाने की मांग की गई है कि पाकिस्तान ने हक्कानी नेटवर्क के सदस्यों को गिरफ्तार करने और उन पर मुकदमा चलाने में प्रगति दिखाई है और उसने हक्कानी नेटवर्क को किसी भी पाकिस्तानी क्षेत्र को पनाहगाह के रूप में इस्तेमाल करने से रोकने के लिए अपनी प्रतिबद्धता दर्शाने के लिए कदम उठाए हैं।

दोनों स्थितियों को पाकिस्तान के लिए एक बड़ी चुनौती के तौर पर देखा जा रहा है, क्योंकि अमेरिका में कई लोग हक्कानी नेटवर्क को आईएसआई की अहम शाखा मानते हैं।

यह विधेयक अमेरिकी राष्ट्रपति से इस बात का प्रमाण भी चाहता है कि पाकिस्तान अफगानिस्तान-पाकिस्तान सीमा के पास हक्कानी नेटवर्क जैसे संगठनों के आतंकवादियों की गतिविधियों को प्रतिबंधित करने के लिए अफगानिस्तान के साथ सक्रिय रूप से समन्वय करता है।

Leave a Comment