PALGHAR : MBBS छात्रा सदिच्छा साने की मर्डर मिस्ट्री सुलझी
लाइफगार्ड ही निकला हत्यारा

पालघर : महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई से सटे पालघर में रहने वाली एमबीबीएस स्टूडेंट सदिच्छा साने की हत्या का खुलासा हुआ है. करीब 14 महीने पहले लापता हुई सदिच्छा की हत्या मुंबई के बांद्रा इलाके के बैंड स्टैंड के समुद्री किनारे पर लाइफगार्ड के तौर पर काम करने वाले मिथ्थू सिंह ने किया है. मुंबई पुलिस ने मिथ्थू सिंह को अरेस्ट किया है और उससे आगे की पूछताछ जरी है. सदिच्छा मुंबई के प्रतिष्ठित जे.जे.ग्रांट मेडिकल कॉलेज के थर्ड इयर की स्टूडेंट थी. वह नवंबर 2021 से ही लापता थी. 29 नवंबर 2021 को सदिच्छा घर से यह कह कर निकली कि वह परीक्षा देने जा रही है. फिर वो वापस लौट कर नहीं आई. जब उसकी कोई खबर नहीं लगी तो बोइसर पुलिस थाने में उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखवाई गई. परिवार वालों को उसके अपहरण का शक था. सदिच्छा की तलाश के लिए सोशल मीडिया समेत बांद्रा के बैंड स्टैंड बस स्टॉप के पास और पूरे बांद्रा इलाके में जगह-जगह तस्वीरें लगाई गईं.

29 नवंबर 2021 से थी लापता, विरार से लोकल पकड़ कर बैंडस्टैंड गई थी
पुलिस द्वारा दी गई जानकारियों के मुताबिक 29 नवंबर 2021 को सुबह 9 बज कर 58 मिनट पर सदिच्छा विवार स्टेशन से लोकल ट्रेन में चढ़ी. वह पहले अंधेरी में उतरी. इसके बाद उसने एक दूसरी लोकल ट्रेन पकड़ कर बांद्रा गई. बांद्रा के बैंड स्टैंड में जाने के लिए उसने ऑटोरिक्शा पकड़ा. मोबाइल लोकेशन के मुताबिक वह दोपहर तक वहीं आसपास थी.

आरोपी मिथ्थू सिंह ने हत्या के बाद शव समुद्र में फेंकने का जुर्म कबूल किया
14 महीने बाद अब जाकर उसकी हत्या के संदर्भ में खुलासा हुआ है. मुंबई पुलिस ने आरोपी मिठ्ठू सिंह को अरेस्ट किया है. पुलिस पूछताछ में मिठ्ठू सिंह ने सदिच्छा की हत्या करने का जुर्म स्वीकार कर लिया है. उसने पुलिस को बताया है कि सदिच्छा की हत्या के बाद उसने शव को समुद्र में फेंक दिया. पुलिस अब यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आरोपी मिथ्थू सिंह ने सदिच्छा की हत्या आखिर क्यों की? साथ ही पुलिस यह भी जानने की कोशिश कर रही है कि कहीं हत्या से पहले आरोपी ने सदिच्छा के साथ कोई और गलत काम तो नहीं किया?

आरोपी का बयान- काफी देर तक गप्पें लड़ाने के बाद की हत्या
आरोपी मिथ्थू सिंह ने अब तक इस मामले में पुलिस को यह बताया है कि उस दिन लाइफगार्ड के तौर पर उसकी ड्यूटी बांद्रा के बैंड स्टैंड के समुद्री किनारे पर थी. सदिच्छा वहां अकेली थी. वह समुद्र की तरफ बढ़ती जा रही थी. ऐसा लगा कि वह आत्महत्या करने जा रही है. आरोपी मिथ्थू का कहना है कि उसने सदिच्छा को पीछे से जाकर पकड़ा. सदिच्छा ने बताया कि उसके दिमाग में आत्महत्या करने जैसा कोई खयाल नहीं चल रहा है. इसके बाद दोनों गप्पें लड़ाने लगे. रात 12 बजे से सुबह 3 बजे तक वे दोनों बैंड स्टैंड में समुद्र के किनारे बैठे रहे. वहां से कुछ सेल्फी लेने के बाद वे वहां से निकले. फिलहाल इतनी जानकारी है. पुलिस पूछताछ जारी है.

Leave a Comment