spot_img
HomeAchievementsDehradun : राजेंद्र ने नार्थ अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी देनाली को...

Dehradun : राजेंद्र ने नार्थ अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी देनाली को किया फतह

पुलिस महानिरीक्षक एवं सेनानायक ने साहस एवं समर्पण के लिए दी बधाई

देहरादून : उत्तराखंड एसडीआरएफ के मुख्य आरक्षी राजेंद्र सिंह नाथ ने नार्थ अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी माउंट देनाली (6190 मीटर) जो अलास्का प्रदेश में स्थित है, को सफलतापूर्वक आरोहण कर देश के साथ उत्तराखंड पुलिस एवं प्रदेश का नाम रोशन किया है और कीर्तिमान रचा है।

पुलिस महानिरीक्षक (एसडीआरएफ) रिधिम अग्रवाल ने नॉर्थ अमेरिका की सबसे ऊंची चोटी देनाली को फतह करने पर मुख्य आरक्षी राजेंद्र नाथ को उनके साहस एवं समर्पण के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि पर्वतारोहण एक साहसिक गतिविधि है। इसमें साहस, दृढ़ता और धीरज की हर कदम पर परीक्षा होती है। हिमालय के उच्च तुंगता क्षेत्र में एसडीआरएफ की ओर से किए जाने वाले रेस्क्यू अभियानों में दुनिया की सबसे ऊंची चोटियों के पर्वतारोहण का यह अनुभव काफी मददगार साबित होगा। माउंट देनाली पर सफलतापूर्वक आरोहण करने के लिए सेनानायक एसडीआरएफ मणिकांत मिश्रा ने राजेंद्र को शुभकामनाएं दी और कहा कि राजेंद्र नाथ एसडीआरएफ के लिए प्रेरणास्रोत हैं।

राजेंद्र नाथ माउंट देनाली के आरोहण के लिए गत 10 जून को एसडीआरएफ वाहिनी जॉलीग्रांट से निकले थे। 13 जून को दिल्ली से हवाई यात्रा शुरू करने के उपरांत राजेंद्र फ्रैंकफर्ट (जर्मनी) होते हुए अमेरिका के अलास्का स्टेट में लास्ट रोड हेड टॉकीटना पहुंचे। विश्राम के बाद वहां से इन्होंने पैदल यात्रा आरंभ की। राजेंद्र नाथ ने बताया कि कई दिन पैदल यात्रा के उपरांत 23 जून को सुबह 11 बजे हम लोग समिट कैंप से माउंट देनाली को फतह करने के लिए निकले। माइनस 25-30 डिग्री तापमान के बीच बर्फीली हवाओं एवं अन्य बाधाओं को पार करते हुए 12 घंटे लगातार ग्लेशियर पर चढ़ाई करने के बाद रात 11 बजे (भारतीय समयानुसार 24 जून, दिन के 12:30 बजे) इन्होंने इस चोटी पर सफलतापूर्वक आरोहण कर लिया।

राजेंद्र बोले- सातों महाद्वीपों की सबसे ऊंची चोटियों पर तिरंगा फहराना है लक्ष्य

राजेंद्र नाथ अब तक यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी एलब्रुश, अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी क्लिमन्जारो, साउथ अमेरिका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी अंकोकागुआ एवं नॉर्थ अमेरिका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी देनाली को फतह कर भारत एवं उत्तराखंड पुलिस का झंडा फहरा चुके हैं। उनका लक्ष्य विश्व के सभी सातों महाद्वीपों की सबसे ऊंची चोटियों पर तिरंगे के साथ उत्तराखंड राज्य एवं पुलिस का झंडा फहराकर नाम रोशन करना है।

राजेंद्र के नाम अनेक कीर्तिमान

राजेंद्र नाथ पूर्व में भी अनेक कीर्तिमान हासिल किए हैं। इन्होंने गत वर्षों में चंद्रभागा-13 (6264 मीटर), डीकेडी-2 (5670 मीटर), माउंट त्रिशूल (7120 मीटर) माउंट गंगोत्री प्रथम (6672 मीटर), माउंट श्रीकंठ (6133 मीटर), माउंट बलज्यूरी (5922 मीटर), माउंट बंदरपूंछ (5500 मीटर), यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुश (5642 मीटर), अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो (5895 मीटर) व दक्षिण अमेरिका महाद्वीप के अर्जेंटीना में स्थित सबसे ऊंची चोटी अंकोकागुआ (6961 मीटर) को सफलतापूर्वक फतह कर देश व उत्तराखंड पुलिस का नाम रोशन किया है।

spot_imgspot_imgspot_img
इससे जुडी खबरें
spot_imgspot_imgspot_img

सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली खबर