Homecrime newsSrinagar : नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से लश्कर का आतंकी गिरफ्तार, कुपवाड़ा...

Srinagar : नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से लश्कर का आतंकी गिरफ्तार, कुपवाड़ा में था सक्रिय

श्रीनगर : (Srinagar) जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में सक्रिय पाकिस्तानी आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा (Pakistani terrorist organization Lashkar-e-Taiba) के आतंकी रियाज अहमद राथर को नई दिल्ली स्टेशन से रेलवे पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पाकिस्तान में बैठे लश्कर आकाओं के निर्देश पर रियाज अहमद राथर ने एलओसी के पार से हथियार व गोला बारूद प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

रेलवे पुलिस ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि कुपवाड़ा में हाल ही में भंडाफोड़ किए गए आतंकी मॉड्यूल के प्रमुख साजिशकर्ताओं में से एक रियाज अहमद को 04 फरवरी को नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से गिरफ्तार किया गया है। वह नियंत्रण रेखा के पार से हथियार और गोला-बारूद हासिल करने में खुर्शीद अहमद राथर और गुलाम सरवर राथर के साथ साजिश रचने में शामिल था।

बयान में कहा गया कि जम्मू-कश्मीर की जांच एजेंसियों से विशेष जानकारी मिली थी कि जिला कुपवाड़ा की तहसील करनाह के ग्राम न्यू गबरा निवासी रियाज़ अहमद राथर हाल ही में भंडाफोड़ किए गए आतंकी मॉड्यूल के प्रमुख साजिशकर्ताओं में से एक है। इस आतंकी मॉड्यूल मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार करके 5 एके राइफल (शॉर्ट), 5 एके मैगजीन, 16 शॉर्ट एके राउंड सहित आपत्तिजनक सामग्री बरामद की गई थी। इस संबंध में एक मामला पुलिस स्टेशन करनाह, कुपवाड़ा (जम्मू-कश्मीर) में दर्ज किया गया था और जांच चल रही है।

बयान में कहा गया कि ये हथियार और गोला-बारूद पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर स्थित लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी आकाओं मंजूर अहमद शेख उर्फ शकूर और काजी मोहम्मद खुशाल ने भेजे थे। दोनों सीमा पार से ऑपरेट कर रहे थे। इसी मामले में फरार रियाज़ अहमद के बारे में जानकारी दी गई कि वह 04 फरवरी को तड़के नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पहुंचेगा। इस पर एक टीम गठित करके नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के सभी प्रवेश, निकास और रणनीतिक बिंदुओं पर तैनात किया गया।

नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पुलिस ने तुरंत कार्रवाई की और भीड़ में रियाज अहमद की पहचान करके उस समय पकड़ लिया, जब वह सुबह के समय नई दिल्ली रेलवे स्टेशन के निकास गेट नंबर 1 से भागने की कोशिश कर रहा था। सघन पूछताछ में पता चला कि वह अपने दोस्त अल्ताफ के साथ जबलपुर से महाकौशल एक्सप्रेस में सवार हुआ था और 3 फरवरी को लगभग 3 बजे हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन पहुंचा था। वहां से उन्होंने ऑटो लिया और एनडीआरएस पहुंचे। रियाज़ अहमद राथर किसी दूसरे ठिकाने पर जाने वाला था। उसके कब्जे से एक मोबाइल फोन और एक सिम कार्ड बरामद किया गया है। पूरी साजिश का पता लगाने के लिए आगे की जांच जारी है।

spot_imgspot_imgspot_img
इससे जुडी खबरें
spot_imgspot_imgspot_img

सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली खबर