SINGAPORE: मास्क विवाद: भारतीय मूल की पीड़िता ने अदालत में दर्ज कराया अपना बयान

सिंगापुर:(SINGAPORE) भारतीय मूल की हिंडोचा नीता विष्णुभाई (Hindocha Nita Vishnubhai of Indian origin) ने अदालत को बताया कि वह उस भयावह वाकये से उबर नहीं पा रही हैं जिसका सामना उन्होंने दो साल पहले किया था।

गौरतलब है कि सात मई 2021 को चुआ चू कांग हाउसिंग एस्टेट में एक व्यक्ति ने कथित तौर पर मास्क न पहने के लिए नीता की छाती पर लात मारी थी और उनके खिलाफ नस्लीय टिप्पणी की थी।

नीता (57) ने मामले की पहली सुनवाई के दौरान बुधवार को अदालत में अपना पक्ष रखा। मामले में आरोपी वोंग शिंग फोंग (32) ने सभी आरोपों को खारिज किया है।

अदालती दस्तावेजों के अनुसार, वोंग पर नीता पर नस्लीय टिप्पणियां करने का आरोप है, जिसका मकसद उनकी भावनाएं आहत करना था। उस पर नस्लीय हमले के तहत नीता के छाती पर लात मारकर जानबूझकर उन्हें चोट पहुंचाने का भी आरोप है।

‘टुडे’ की खबर के अनुसार, बुधवार को नीता को अभियोजन पक्ष के पहले गवाह के रूप में बुलाया गया था, लेकिन अदालत कक्ष में पहुंचते ही वह खुद को संभाल नहीं पाईं और रोने लगीं।

खबर के अनुसार, यह स्पष्ट नहीं है कि वह वोंग को देखकर रो पड़ीं या किसी और वजह से, लेकिन जिला न्यायाधीश शैफुद्दीन सरुवन ने मामले को अस्थायी रूप से रोककर उन्हें खुद को संभालने का समय दिया। 30 मिनट बाद सुनवाई फिर शुरू हुई।

नीता ने अदालत को बताया कि वह आमतौर पर काम करने के लिए तेज-तेज चलती हैं क्योंकि उनके पास काम पर जाने से पहले व्यायाम करने का समय नहीं होता। तेज-तेज चलने के कारण उन्होंने अपना मास्क मुंह से नीचे ठोड़ी पर खींच लिया था। वह बस स्टैंड की ओर जा रहीं थी तभी उन्होंने किसी को उनकी ओर चिल्लाते हुए सुना। जैसे ही वह पलटी तो उन्होंने वोंग और एक महिला को देखा जो उनकी ओर इशारा कर मास्क ऊपर करने को कह रहे थे। तब उन्होंने उन्हें इशारे से बताया कि वह व्यायाम कर रही हैं।

नीता ने कहा, ‘‘ मैं लड़ना नहीं चाहती थी सर इसलिए मैंने कहा, ‘‘भगवान आपका भला करे’’, लेकिन इसके बाद वोंग उनकी ओर दौड़ता हुआ आया और उनकी छाती पर लात मार दी, जिससे वह वहीं गिर गईं और उनके बाएं हाथ और हथेली से खून निकलने लगा।’’

नीता ने आरोप लगाया कि वोंग और उनकी महिला साथी वहां से ऐसे चले गए जैसे कुछ हुआ ही नहीं।उन्होंने कहा, ‘‘ मैं जोर-जोर से रो रही थी। मैं डर गई थी। आज भी अगर आप मुझे उस सड़क पर ले जाएंगे तो मैं रोना शुरू कर दूंगी..मैं
बहुत डर गई थी।’’

वहीं वोंग के वकील ने कहा कि नीता ने उनके मुवक्किल को लताड़ा और वह व्यायाम नहीं कर रही थीं, उनके पास अपना मास्क नीचे खींचने का कोई कारण नहीं था। उन्होंने उनके मुवक्किल से कहा कि वह अपना काम करें।

Leave a Comment