New Delhi: सरकार ने रैंकिंग सीरीज जाग्रेब ओपन में पहलवानों की भागीदारी को मंजूरी दी

नयी दिल्ली:(New Delhi) सरकार ने बजरंग पूनिया और विनेश फोगाट(Bajrang Punia and Vinesh Phogat) सहित 55 सदस्यीय भारतीय कुश्ती दल को एक से पांच फरवरी के बीच होने वाले जाग्रेब ओपन ग्रांप्री में भाग लेने की मंजूरी दे दी है। नवनियुक्त निगरानी समिति ने रैंकिंग सीरीज के इस पहले टूर्नामेंट के लिए 12 महिला, 11 ग्रीको रोमन और 13 पुरुष फ्रीस्टाइल पहलवानों को चुना है।

खेल मंत्रालय की विज्ञप्ति के अनुसार इस टीम में ओलंपिक रजत पदक विजेता रवि कुमार दहिया, अंशु मलिक और दीपक पूनिया भी शामिल हैं। विज्ञप्ति में कहा गया है कि इस दौरे का पूरा खर्चा सरकार वहन करेगी। खेल मंत्रालय ने भारतीय कुश्ती महासंघ (WFI) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ लगाए गए यौन उत्पीड़न के मामलों की जांच के लिए इस सप्ताह के शुरू में पांच सदस्यीय निगरानी समिति का गठन किया था। इस समिति को डब्ल्यूएफआई के रोजमर्रा के काम को देखने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

दिग्गज मुक्केबाज एमसी मेरीकॉम की अध्यक्षता वाली इस समिति में पूर्व पहलवान योगेश्वर दत्त, पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी और मिशन ओलंपिक सेल की सदस्य तृप्ति मुरगुंडे, टॉप्स के पूर्व सीईओ राजगोपालन और भारतीय खेल प्राधिकरण (SAI) की पूर्व कार्यकारी निदेशक (sports) राधिका श्रीमन शामिल हैं। पहलवानों ने हालांकि इस पर निराशा व्यक्त की है कि समिति का गठन करने से पहले उनकी राय नहीं ली गई।

पिछले सप्ताह बजरंग, विनेश और रवि दहिया सहित कई पहलवानों ने डब्ल्यूएफआई के अध्यक्ष को बर्खास्त करने की मांग को लेकर जंतर-मंतर पर तीन दिन का धरना दिया था। पहलवानों ने शरण पर तानाशाही रवैया अपनाने और जूनियर पहलवानों का यौन उत्पीड़न करने का आरोप लगाया था। पहलवानों ने हालांकि उन खिलाड़ियों की पहचान उजागर नहीं की जिनका कथित तौर पर यौन उत्पीड़न किया गया। शरण भाजपा के सांसद भी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *