spot_img
Homecrime newsJodhpur : नांदड़ा खुर्द तिहरा हत्याकाण्ड : तिहरे हत्याकाण्ड का खुलासा, आरोपित...

Jodhpur : नांदड़ा खुर्द तिहरा हत्याकाण्ड : तिहरे हत्याकाण्ड का खुलासा, आरोपित गिरफ्तार

जोधपुर : निकटतर्वी बनाड़ थाना क्षेत्र के गांव नांदडा खुर्द में बुधवार को हुए तिहरे हत्याकाण्ड का पुलिस ने 24 घंटे बाद खुलासा करते हुए हत्या के आरोप में एक युवक को गिरफ्तार किया है। आरोपित का घर में आना जाना था और लूट के इरादे से यह वारदात की। पहले वृद्धा फिर उसकी दोहितियों को मारा, बाद में बच्चियों की मां के सिर पर कुल्हाड़ी मारी थी। हत्याओं के बाद संदूक के ताले तोड़े मगर उसे कुछ हाथ नहीं लगा था। पकड़े गए अभियुक्त से गहनता से पूछताछ चल रही है। कोई और इस वारदात में शामिल है अथवा नहीं इस बारे में पता लगाया जा रहा है।

पुलिस उपायुक्त पूर्व आलोक श्रीवास्तव ने बताया कि बनाड़ थाना क्षेत्र में नांदड़ा खुर्द गांव में भंवरी देवी, उनकी दो दोहितियों लक्षिता एवं भावना की हत्या के साथ उनकी मां पर कुल्हाड़ी से हत्या करने के प्रयास के आरोपित नांदड़ा गांव निवासी दिनेश पुत्र सुरजाराम को गिरफ्तार किया गया है। आरंभिक पड़ताल में उसने अपना जुर्म कबूल किया है।

पकड़े गए आरोपित से पता लगा कि आरोपित जुएं और नशे का आदी है और वह जुएं में पांच लाख हार चुका था जिसकी उधारी उस पर चढ़ी हुई थी। वह रकम को हासिल करने के लिए यह योजना बनाई।

आरोपित दिनेश का इस घर में आना जाना था और वह सबसे परिचित था। उसे यह मालूम था कि दोपहर के समय डेढ़ से ढाई बजे के बीच घर में कोई नहीं रहता है केवल बच्चियां ही होती है और उसने लूट की योजना बनाई।

पहले मारा वृद्ध भंवरीदेवी को फिर बच्चियों को :

पुलिस उपायुक्ता आलोक श्रीवास्तव ने बताया कि आरोपित घर में दाखिल होने पर पहले वृद्ध भंवरी देवी के सिर पर कुल्हाड़ी मारी जिससे वह वहीं पर ढेर हो गई। बच्चियों के रोने लगी तो वह उन्हें चुप कराने के लिए पानी के टांके पर लेकर गया और पानी में डाल दिया। फिर वह लौटा और बाद में बच्चियों की मां संतोष पर कुल्हाडी से वार किया, मगर कुल्हाड़ी उसके सिर में ही धंस गई।

यह सब करने के बाद आरोपित दिनेश ने घर में रखे संदूक और अलमारियों के ताले तोड़े, मगर उसे कुछ हासिल नहीं हुआ। उसे अंदेशा था कि घर से कुछ ज्वैलरी मिलने पर वह अपनी उधारी चुका सकते है जोकि वह जुएं में हारा हुआ है।

आरोपित दिनेश वारदात करने के बाद दूसरे रास्ते से चुपचाप निकल गया। वह जिस रास्ते से आया वहां से नहीं गया। दूसरे रास्ता पकड़ा। डीसीपी श्रीवास्तव ने बताया कि आस पास उस समय में एक्टिव रहे फोन लोकेशन से उसके बारे में जानकारी हुई और उसे पकड़ लिया।

इस तिहरे हत्याकांड को लेकर जाट समाज के लोगों ने एमडीएम मोर्चरी पर धरना प्रदर्शन किया। परिजन ने एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी, एक करोड़ मुआवजा और आरोपित की गिरफ्तारी की मांग रखी। दोपहर में परिजन की तरफ से जिला कलेक्टर को ज्ञापन भी दिया गया। धरना स्थल पर राजस्थान राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की पूर्व अध्यक्ष संगीता बेनीवाल भी दोपहर में मोर्चरी पर पहुंची और मृतकों के परिवार को ढांढस बंधाने के साथ पुलिस के उच्चाधिकारियों से इस बारे में बात की।

बता दें कि नांदडा खुर्द निवासी मंगीलाल कुडिया की बेटी संतोष पत्नी किशनाराम तीन-चार दिनों से मायके आई हुई थी। बुधवार दोपहर संतोष, उसकी मां भंवरी देवी और संतोष की दो बेटियां भावना और लक्षिता घर पर थीं। इस दौरान किसी ने घर में घुसकर कुल्हाड़ी से सबसे पहले भंवरी देवी के सिर पर वार किया, जिससे वह मौके पर ही ढेर हो गई। संतोष के भी सिर पर वार किया गया, जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई। हमलावर ने दोनों मासूम बेटियों को घर में बने पानी के टांके में डुबोकर मार दिया।

करीब पांच बजे पुलिस को इस घटना की जानकारी मिली, जिसके बाद वे यहां मौके पर पहुंचे। मौके पर लूट या डकैती को लेकर हत्या करने के कोई साक्ष्य नहीं मिले हैं। पुलिस ने बताया कि जिस परिसर में हत्या हुई है, वहां पर मांगीलाल के दो पुत्र पुखराज और अशोक रहते हैं। पुखराज के घर में यह घटना घटित हुई है। परिजनों से भी पुलिस जानकारी जुटा रही है। इसके अलावा पुलिस का डॉग स्क्वायड भी घटनास्थल और आसपास के इलाकों में खोजबीन की।

spot_imgspot_imgspot_img
इससे जुडी खबरें
spot_imgspot_imgspot_img

सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली खबर