spot_img
HomeChandigarhChandigarh : हरियाणा में 50 एकड़ में बनेगी फोरेंसिक साइंस प्रशिक्षण और...

Chandigarh : हरियाणा में 50 एकड़ में बनेगी फोरेंसिक साइंस प्रशिक्षण और प्रयोगशाला:अमित शाह

अमित शाह की मौजूदगी में हरियाणा व नेशनल फोरेंसिक विज्ञान विवि में एमओयू

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने हरियाणा में ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट खोलने का रखा प्रस्ताव

चंडीगढ़ : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हरियाणा में फोरेंसिक विज्ञान में प्रशिक्षण और प्रयोगशाला परीक्षण सुविधाओं के लिए लगभग 50 एकड़ में स्थापित किए जाने वाले उत्कृष्टता केंद्र में एक ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट की स्थापना करने का प्रस्ताव रखते हुए कहा कि केंद्र सरकार इसकी स्थापना के लिए पूरी व्यवस्था करेगी।

अमित शाह शनिवार को पंचकूला में चिह्नित अपराध मामलों के लिए फोरेंसिक विज्ञान में प्रशिक्षण और प्रयोगशाला परीक्षण सुविधाओं में उत्कृष्टता केंद्र की स्थापना हेतु हरियाणा सरकार तथा राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान विश्वविद्यालय, गांधीनगर, गुजरात के मध्य समझौता ज्ञापन (एमओयू) हस्ताक्षर समारोह में बोल रहे थे।

अमित शाह ने हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह को सुझाव देते हुए कहा कि इस केंद्र की प्लानिंग के दौरान यहां एक ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट स्थापित करने पर ध्यान दिया जाए। इसके साथ-साथ यहां एक हॉस्टल भी बनाया जाए, ताकि यहां पर पुलिस के अधिकारियों और न्यायिक अधिकारियों को भी प्रशिक्षण प्रदान किया जा सके। उन्होंने कहा कि इस उत्कृष्टता केंद्र से आने वाले दिनों में हरियाणा में क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम में आमूलचूल परिवर्तन होगा। इतना ही नहीं, यह केंद्र उत्तर भारत के लिए एक बड़ा ट्रेनिंग केंद्र बनकर उभरेगा।

उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार ने आज नेशनल फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी के साथ जुड़कर क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम को बेहतर बनाने के लिए वैज्ञानिक आकार देने का फैसला लिया है। उन्होंने कहा कि एनएफएसयू यूनिवर्सिटी वर्तमान में 9 राज्यों में अपना कैंपस स्थापित कर चुकी है। केंद्रीय कैबिनेट ने अभी प्रस्ताव पास किया है, जिसके तहत लगभग 16 राज्यों में यूनिवर्सिटी अपने कैंपस पहुंचाने का काम करेगी।

इस अवसर पर केंद्रीय ऊर्जा, हाउसिंग एवं शहरी मामले मंत्री मनोहर लाल ने कहा कि वर्ष 2022 में सूरजकुंड में इस केंद्र की स्थापना की परिकल्पना रखी गई थी और आज इस एमओयू के माध्यम से इस परिकल्पना को मूर्त रूप प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पहले प्रदेश में केवल एक फॉरेंसिक साइंस लैब थी, जो आज बढ़कर चार हो चुकी हैं। अब नेशनल फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी का कैंपस यहां होगा तो पीड़ितों को न्याय जल्द मिल सकेगा।

हरियाणा के मुख्यमंत्री नायब सिंह ने कहा कि इस केंद्र की स्थापना से हरियाणा प्रदेश को क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम में बहुत बड़ा लाभ मिलने वाला है। नेशनल फॉरेंसिक साइंस यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. जेएम व्यास ने कहा कि इस केंद्र की स्थापना से हरियाणा की फोरेंसिक कैपेबिलिटी बढ़ने जा रही है। इससे पूरे क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम को लाभ मिलेगा।

इस अवसर पर वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अनुराग रस्तोगी, पुलिस महानिदेशक शत्रुजीत कपूर, महानिदेशक अभियोजन संजय हुड्डा, हिपा की महानिदेशक चंद्रलेखा मुखर्जी सहित अन्य गण्यमान्य अतिथि एवं जिला प्रशासन के अधिकारीगण भी उपस्थित थे।

spot_imgspot_imgspot_img
इससे जुडी खबरें
spot_imgspot_imgspot_img

सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली खबर