क्या है वैक्यूम बम?, यूक्रेन को तबाह करने के लिए, जिसका इस्तेमाल कर रहा है रूस

vacuum bomb

मोनिका श्रीवास्तव
रूस और यूक्रेन के बीच जारी जंग का आज छठां दिन है। विश्वभर के तमाम देश रूसी राष्ट्रपति पुतिन से इस युद्ध को रोकने की आग्रह कर रहे हैं लेकिन पुतिन एक इंच भी पीछे हटने को तैयार नहीं है। आज रूसी सेना ने यूक्रेन के एक मिलिट्री बेस पर हमला किया, जिसमें यूक्रेन के 70 से ज्यादा सैनिक मारे गए। अमेरिका में रूस के राजदूत ओक्साना मार्करोवा ने मीडिया में बयान दिया कि रूस ने कीव पर आक्रमण के दौरान थर्मोबैरिक हथियार का इस्तेमाल किया था, जिसे वैक्यूम बम भी कहा जाता है। इसके अलावा कई मानवाधिकार समूहों और एमनेस्टी इंटरनेशनल ने भी रूस पर यूक्रेन के खिलाफ वैक्यूम बम और क्लस्टर बम का इस्तेमाल करने के आरोप लगाए हैं।

क्या सच में रूस ने किया वैक्यूम बम का इस्तेमाल
मार्करोवा ने सांसदों के साथ हुई एक बैठक में कहा कि उन्होंने आज वैक्यूम बम का इस्तेमाल किया। रूस यूक्रेन पर जो तबाही मचाने की कोशिश कर रहा है वह बहुत बड़ी है। हालांकि यूक्रेन के दावों की अभी पुष्टि होनी बाकी है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जेन साकी के हवाले से कहा कि यदि यह सच है, तो यह संभवत: एक युद्ध अपराध है।

क्या है वैक्यूम बम

वैक्यूम बम एक थर्मोबैरिक हथियार है, जो उच्च तापमान का विस्फोट करने के लिए आसपास की ऑक्सीजन का इस्तेमाल करता है। यह आम तौर पर एक पारंपरिक विस्फोटक की तुलना में काफी लंबी दूरी की विस्फोट लहर पैदा करता है। यह इतना खतरनाक है कि इंसान के शरीर को भाप बनाकर उड़ा सकता है। यह बम तीन सौ मीटर के दायरे में नुकसान पहुंचाने में सक्षम है। इस बम को एरोसोल बम के नाम से भी जाना जाता है।

विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि वैक्यूम बम की विस्फोट लहर पारंपरिक विस्फोटकों की तुलना में काफी अधिक समय तक चलती है। परमाणु बम जितने ही खतरनाक इस बम को फादर ऑफ ऑल बम भी कहा जाता है। इससे परमाणु बम की तरह गर्मी पैदा होती है और यह धमाके के साथ अल्टासोनिक शॉकवेब निकालता है, जो और अधिक तबाही लाता है। यही वजह है कि इस बम को किसी भी अन्य पारंपरिक हथियार की तुलना में अधिक शक्तिशाली माना जाता है।

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय मानवीय कानून क्लस्टर हथियारों के अंधाधुंध हथियारों के इस्तेमाल पर रोक लगाता है। ऑस्ट्रेलियन स्ट्रेटेजिक पॉलिसी इंस्टीट्यूट के वरिष्ठ विश्लेषक डॉ. मार्कस हेलियर ने कहा कि वैक्यूम बम एक अपार्टमेंट परिसर या अन्य इमारत के खिलाफ एक बहुत ही विनाशकारी हथियार हो सकते हैं।