11.1 C
London
Sunday, June 4, 2023
HomechhattisgarhRaipur : रायपुर-गोठान बंजर हालत में , खाद बनाने की टंकी में...

Raipur : रायपुर-गोठान बंजर हालत में , खाद बनाने की टंकी में घास उगी – अरूण साव

रायपुर : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष अरूण साव चलबो गोठान खोलबो पोल अभियान के तहत आज मंगलवार को कोंडागांव जिले के ग्राम बड़े कनेरा पहुंचे। इस दौरान गांव वालो ने बताया कि यहां 2 करोड़ रु खर्च किया गया है गोठान में बकरी पालन करने के लिए शेड भी बनाया गया ,लेकिन यहां पर कोई गाय नहीं है। ऐसा प्रतीत होता है कि यहां पर महीनों से कोई नहीं आया होगा।

उन्होंने बताया कि गोठान में गोबर की खरीद की कोई व्यवस्था नहीं है और न ही किसी तरह की कोई गतिविधि संचालित हो रही है। गोठान में मछली पालन के लिए तालाब तो बनाया है लेकिन तालाब में पानी नहीं है। गायों के लिए चारे-पानी की भी व्यवस्था नहीं है, वर्मी कंपोस्ट बनाने वाली टंकी में बड़ी बड़ी घास उगी मिली। गोठान के बाहर गाय घूमती दिखी क्योंकि गोठान में कोई व्यवस्था नही थी।इस दौरान प्रदेश महामंत्री केदार कश्यप, पूर्व मंत्री लता उसेंडी मौजूद रहे।

राज्यसभा सांसद सुश्री सरोज पांडेय भिलाई के कोसानाला में चलबो गोठान खोलबो पोल अभियान में शामिल हुई। इस दौरान उन्होंने कहा कि सरकार ने यहां आनन-फानन में काम किया है। जिसके कारण एक गौ माता की दुखद मृत्यु हो गई। गौठान में न चारा है और न ही पानी की कोई समुचित व्यवस्था।

गोठान योजना की पोल जनता के सामने खुल चुकी-उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के प्रायोजित भेंट मुलाकात कार्यक्रम में कांग्रेसी कहते हैं कि वह गोबर बेचकर ट्रैक्टर खरीद लेता है तो कोई सोना खरीद लेता है। जबकि वास्तविकता कुछ और ही है। उन्होंने कहा कि गोठान समिति के लोगों को पैसा भी नहीं मिल रहा है। प्रदेश सरकार की गोठान योजना की पोल जनता के सामने खुल चुकी है।

गोठानों में गाय, गोबर, चारा, पानी कहीं नहीं -प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता, छत्तीसगढ़ शासन के पूर्व मंत्री व विधायक अजय चंद्राकर ने कुरुद के भखारा इलाके के तीन गोठानों का निरीक्षण कर भारी गड़बड़ी पकड़ी। कुरुद विधायक श्री चंद्राकर ने ग्रामीणों से वस्तुस्थिति की जानकारी ली। ग्रामीणों की मौजूदगी में गोठानों की धांधली का भौतिक परीक्षण किया। गोठानों में गाय, गोबर, चारा, पानी कहीं नहीं दिखा।

गोठानों में गाय और गोबर है ही नहीं-पूर्व पंचायत मंत्री अजय चंद्राकर ने कहा कि ग्राम पंचायतों से लेकर जनपद और जिला पंचायत के स्तर पर मूलभूत सुविधाओं का कोई काम भूपेश बघेल सरकार ने नहीं किया। ग्रामीण जनता मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रही है। पंचायतों का पैसा गोठान घोटाले की भेंट चढ़ गया है। इसके साथ ही मनरेगा के पैसे का भी दुरुपयोग करते हुए गोठान घोटाले को अंजाम दिया गया है। उन्होंने कहा कि मनरेगा में 60 फीसदी पैसा केंद्र सरकार देती है और 40 प्रतिशत पैसा राज्य सरकार का हिस्सा होता है। केंद्र सरकार के पैसों से जो काम होने चाहिए, वह नहीं हुए और मनरेगा की रकम गोठानों के निर्माण में लगा दी गई। इसके साथ ही 15 वें वित्त का पैसा भी घोटाले का शिकार हो गया। इन गोठानों में गाय और गोबर तो है ही नहीं।गायों के लिए चारा और पानी की व्यवस्था नहीं है।

इस दौरान बलौदाबाजार में विधायक शिवरतन शर्मा, छगन मुंदड़ा, बस्तर में बिलासपुर संभाग प्रभारी किरण देव, संतोष बाफना, लच्छुराम कश्यप, रूपसिंह मंडावी, कोंडगांव में सेवक राम नेताम, कमलचंद भंजदेव, दिनेश कश्यप सहित कई नेताओ ने अलग अलग गोठानो का निरीक्षण किया।

इससे जुडी खबरें

सबसे ज्यादा पढ़ी जाने वाली खबर