Moradabad : लाइव डेमो के जरिए स्टुडेंट्स को सिखाई जाएंगी अल्ट्रासाउंड की बारीकियां

टीएमयू में रेडियोलाजी की फीटल मेडिसिन पर होगी रेडकॉन-2023
इंडिया ग्राउंड रिपोर्ट डेस्क
मुरादाबाद: (Moradabad)
तीर्थंकर महावीर यूनिवर्सिटी के मेडिकल कालेज एंड रिसर्च सेंटर के रेडियोडायग्नोसिस विभाग की ओर से रेडकॉन-2023 के तहत 22 जनवरी को ऑडिटोरियम में सीएमई होगी, जिसका शुभारंभ मेडिकल कालेज के वाइस प्रिंसिपल डा. एसके जैन बतौर मुख्य अतिथि एवम् लंदन और सिंगापुर से प्रशिक्षित डा. कृष्ण गोपाल बतौर मुख्य वक्ता करेंगे।
फीटल मेडिसिन-भ्रूण चिकित्सा को लेकर होने वाली इस सीएमई में एक्सप्लोरिंग आब्स्टेट्रिक अल्ट्रासाउंड इन फीटल मेडिसिन के विषय पर विस्तार से मंथन होगा। इस मौके पर एक्सपर्ट्स की ओर से आब्स्टेट्रिक अल्ट्रासाउंड प्रैक्टिस पर लाइव डेमो के जरिए स्टुडेंट्स को अल्ट्रासाउंड की बारीकियां बताई जाएंगी। सिंगापुर जनरल हास्पिटल, लंदन और सिंगापुर से प्रशिक्षित और एपेक्स इंस्टिट्यूट ऑफ फीटल एंड रिप्रोडक्टिव साइंसेज़ के डायरेक्टर डा. कृष्ण गोपाल बतौर मुख्य वक्ता अपना लेक्चर देंगे।
सीएमई में गर्भावस्था के दौरान अल्ट्रासाउंड के समय कोर कंपीटेंसी को बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा। इसमें अल्ट्रासाउंड करने वाले की क्षमता और कार्यकुशलता को बढ़ाने पर जोर दिया जाएगा। सीएमई में रेडियोलाजी, सोनोलाजी एंड आब्स्टेट्रिक्स विभाग के संग-संग विभिन्न मेडिकल कालेजों-नोएडा, बरेली, मेरठ आदि के सीनियर प्रोफेसर्स, सीनियर रेडियोलाजिस्ट्स के संग-संग पीजी स्टुडेंट्स भी मौजूद रहेंगे।
रेडियोलाजी विभाग के एचओडी प्रो. सतीश पाठक ने बताया, सीएमई का मुख्य उद्देश्य प्रेगनेंसी के समय अल्ट्रासाउंड की समझ को विकसित करना है, जिससे बच्चे की ग्रोथ, डवलपमेंट और स्थिति को लेकर छोटी-से-छोटी बात को नोटिस किया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *